प्रशासनिक व्यवस्था

सामान्य प्रशासन

गोरखपुर मण्डल में चार जिले शामिल हैं- गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर और महाराजगंज, और जिसका नेतृत्व गोरखपुर के मण्डलायुक्त द्वारा किया जाता है।मण्डलायुक्त  मण्डल के  स्थानीय सरकारी संस्थानों के प्रमुख एवं बुनियादी  विकास के प्रभारी हैें।   कानून और व्यवस्था बनाए रखने की भी जिम्मेदारी मण्डलायुक्त की  है।

जिला प्रशासन की अध्यक्षता गोरखपुर के जिला मजिस्ट्रेट की है।   मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ), अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (एडीएम) (वित्त / राजस्व, नगर, स्थापना), मुख्य राजस्व अधिकारी (सीआरओ), सिटी मजिस्ट्रेट (सीएम), और अतिरिक्त नगर मजिस्ट्रेट (एसीएम) द्वारा  प्रशासनिक कार्यों में जिलाधिकारी की सहायता करते हैं।

जिला 7  तहसालों और 19 विकास खंडों में बांटा गया है।  तहसील की  अध्यक्षता उप-जिलाधिकारी के द्वारा की जाती है।

पुलिस प्रशासन

गोरखपुर जिला,  गोरखपुर पुलिस जोन और गोरखपुर पुलिस रेंज के अंतर्गत आता है। गोरखपुर जोन की अध्यक्षता   अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) करते हैं  और गोरखपुर रेंज का नेतृत्व इंस्पेक्टर जनरल (आईजी) करते हैं।

जिले में  पुलिस की अध्यक्षता एक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) की होती है, और पुलिस अधीक्षक (एसपी) / अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (अपर एसपी) (शहर, ग्रामीण, अपराध, यातायात, प्रोटोकॉल और सुरक्षा), सर्किल  अधिकारी व  एसएचओ  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की सहायता करते हैं।