कैसे पहुंचें

स्थान और सीमाएं

जनपद  गोरखपुर  वर्तमान में, राजधानी लखनऊ से 265 किलोमीटर, राष्ट्रीय राजमार्ग -28 पर अक्षांश 26 ° 46′ एन और देशांतर 83 ° 22 ई के बीच है, 3483.8 वर्ग के भौगोलिक क्षेत्र को कवर करता है।  यह उत्तर में महाजगंज जिले, आंबेडकरनगर, दक्षिण में आज़मगढ़ और माउ, पूर्व में कुशीनगर और देवरिया और पश्चिम में संत कबीरनगर हैं।

गोरखपुर पूर्वी यू.पी. का एक महत्वपूर्ण जिला है और कुशीनगर, कपिलवस्तू और नेपाल के लिए मुख्य टर्मिनस है।

रेल:

गोरखपुर भारत के सभी प्रमुख शहरों के साथ  रेल मार्ग जुड़ा हुआ है ।

सड़क मार्ग :

यू.पी. के सभी प्रमुख शहरों के लिए यहाँ  सड़क मार्ग से जाने के लिए  परिवहन उपलब्ध है। मुख्य बस स्टैंड रेलवे स्टेशन के नजदीक है। बसें सुबह  3.00 बजे  से देर रात तक, गोरखपुर से सानौली तक के लिए भी  उपलब्ध हैं। इसके अलावा, वाराणसी, लखनऊ,  कानपुर, दिल्ली आदि जैसे अन्य मार्गों के लिए लगातार सेवा उपलब्ध है।

वायु :

एअरपोर्ट   रेलवे स्टेशन से करीब 8 किमी दूर है  |  8 मार्च, 2013 को इसका वाणिज्यिक एयरपोर्ट के रूप में उद्घाटन किया गया है दैनिक उड़ानें गोरखपुर से दिल्ली, मुंबई, बंगलौर, हैदराबाद और कोलकता तक के लिए उपलब्ध हैं। दैनिक उड़ानों की जानकारी के लिए कृपया www.makemytrip.com या किसी अन्य वेबसाईट को देखें|

कुशीनगर जिले में एक नया एअरपोर्ट के निर्माण का कार्य चल रहा है | गोरखपुर के अतिरिक्त  लखनऊ और वाराणसी के निकटतम अन्य वाणिज्यिक एयरपोर्ट हैं,  उड़ानों के बारे में अन्य जानकारी के लिए कृपया ऑनलाइन वेबसाइट देखें|